Saturday, April 1, 2017

उगता सूरज (Hindi Poetry)

"तुम्हारी आँखों में उगता सूरज
देखा है मैंने,
पलकें ना झुकाना,
मैं सूरज को ढलता
ना देख पाऊंगा "